देशविदेश

तहसीलदार ने धोए झूठे गिलास,

कर्नाटक के गडग जिला के मुदारंगी के तहसीलदार का चाय की दुकान पर झूठे गिलास धोते हुए

कर्नाटक के गडग जिला के मुदारंगी के तहसीलदार का चाय की दुकान पर झूठे गिलास धोते हुए

भारत तहसीलदार ने धोए झूठे गिलास, चाय की दुकान का वीडियो वायरल, जानिए पूरा मामला  मामला बेहद ही हैरान कर देने वाला है. कर्नाटक के गडग जिला के मुदारंगी के तहसीलदार का चाय की दुकान पर झूठे गिलास धोते हुए एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है. इस वीडियो को लेकर तमाम चर्चाएं हो रही हैं. आखिर तहसीलदार झूठे गिलास क्यों धो रहे हैं. तो आपको बता दें कि मामला बेहद ही हैरान कर देने वाला है. दरअसल तहसीलदार को शिकायत मिली थी कि गांव में छुआछूत का खेल चरम पर चल रहा है. बस इसी शिकायत के बाद तहसीलदार ने ये कदम उठाया. मुंदारगी के तहसीलदार अशप्पा पुजार होरोगेरी को गांव से शिकायत मिली थी, कि यहां अनुसूचित जाति वालों के यहां किसी की शादी हो या फिर कोई प्रोग्राम हो, तो स्थानीय दुकानदार अपनी दुकानें बंद कर देते हैं. इस वजह से इन लोगों को काफी समस्या आती है. पूछे जाने पर बताया गया कि ये दुकान वाले छुआछूत का भेद मानते हैं. ये शिकायत मिलने के बाद तहसीलदार खुद इस गांव में पहुंच गए.  बताया गया कि तहसीलदार गांव में एक चाय की दुकान पर पहुंचे. उनके साथ क्षेत्रीय पुलिस इंस्पेक्टर और समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे. तहसीलदार ने चाय पी और इसके बाद वे बर्तन धोने वाली जगह पहुंच गए और वहां झूठे गिलास धोने लगे. यह देखकर वहां मौजूद लोग हैरान रह गए. कुछ लोगों ने इस पूरे मामले का वीडियो बना लिया, जो सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है. वहीं चाय का गिलास धोने के बाद तहसीलदार ने वहां के दुकानदारों से बात की और आगे से इस प्रकार की हरकत किए जाने पर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी.  इस दौरान तहसीलदार ने कहा कि इस तरह की सामाजिक बुराइयों को जड़ से उखाड़ने के लिए सबको मिलकर काम करना होगा. वहीं इस मामले में जब तहसीलदार से बात की गई, तो उन्होंने बताया कि गांव से छुआछूत को लेकर शिकायत मिली थी, जिसके बाद दुकानदारों से बात की गई. उन्होंने बताया कि चाय का झूठा गिलास धोने का कोई इरादा नहीं था, लेकिन ये दिखाना चाहता था कि किसी का झूठा गिलास या बर्तन धोने से कुछ नहीं हौता

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सर्व हक्क मुख्य संपादक यांचे कडे असून त्यांच्या परवानगी शिवाय काहीही कॉपी करू नाही.
Close
Close